सरकारी जमीन पर कब्जा करने वालों ने पौधारोपण में डाला अड़ंगा !

मुख्य और आशापुर गांव में सरकारी जमीन पर कब्जा – मुख और आशापुर गांव में सरकारी जमीन पर कब्जा करने वाले 51 लाख पौधारोपण के महाअभियान में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं। स्थानीय प्रशासन की टीम अपनी इस राजस्व भूमि से कब्जा हटाने में एक बार विफल हो चुकी है।

जिला प्रशासन की कार्रवाई

जिला प्रशासन ने मुख्य राजस्व विभाग के जरिए 1 लाख पौधे लगाने के लिए वन विभाग को 26 हेक्टेयर जमीन उपलब्ध कराई थी। इसमें से 10 हेक्टेयर जमीन पर कब्जाधारी पहले से कब्जा किए हुए हैं। प्रशासन ने जब कब्जा हटाने का प्रयास किया तो उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा।

जंगल की जमीन पर कब्जा करना सबसे ज्यादा आसान

जंगल की जमीन पर कब्जा करना अतिक्रमण करने वालों के लिए सबसे ज्यादा आसान साबित होता है। इंदौर, धार, मंदसौर के जंगलों में लगभग 850 अवैध कब्जे हैं।

वन विभाग के कर्मचारी के डर का फायदा उठाते हैं

कब्जाधारी वन विभाग के कर्मचारियों के भय का फायदा उठाते हैं। कई बार प्रशासन को उनकी खुद की जमीन पर पौधारोपण करने में कठिनाई होती है।

पट्टे की जमीन के लालच में होते हैं अतिक्रमण

वन विभाग के कर्मचारियों को मिलाए बिना भी कब्जाधारी अपनी चालबाजी से वन विभाग की जमीन पर अतिक्रमण कर लेते हैं।

प्रशासन की योजना

प्रशासन अब एक बार फिर से इस भूमि पर पौधारोपण करने का प्रयास करेगा। इस बार प्रशासन ने 240 अधिकारियों के साथ पौधारोपण के लिए योजना बनाई है। इस बार कब्जा हटाने के लिए प्रशासन ने सख्त कदम उठाने का निर्णय लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *