बारिश, बत्ती गुल, छावनी में आधी रात तक अंधेरा, लोग परेशान !

इंदौर, तेज बारिश में बिजली इंसुलेटर कंडक्टर चटकने और तारों में पेड़ों की डालियां उलझने के फाल्ट की स्थिति निर्मित हुई। इसके कारण लोगों को अंधेरे का सामना करना पड़ा। शहर के अलग-अलग इलाकों में 30 मिनट से लेकर 3 घंटे तक अंधेरा रहा। बिजली कंपनी के कर्मचारियों ने 1 घंटे में बिजली व्यवस्था सुधारने की पाई, तब जाकर रहवासियों को असम में राहत मिली।

चटके इंसुलेटर, पेड़ों की डालियां बिजली तारों में उलझीं, फाल्ट

प्रभावित क्षेत्र

संगम नगर, एरोड्रम रोड, गांधी नगर, रोबर्ट्स नगर, खंडवा रोड, आनंद नगर, चित्तौड़, डाकघर कॉलोनी, सिख कॉलोनी, श्याम नगर, राजमोहल्ला, राजवाड़ा, यशवंत रोड, नई इंदौर कॉलोनी के क्षेत्रों में बारिश शुरू होने के साथ ही बिजली गुल हो गई। फाल्ट की वजह से 50 से ज्यादा इलाकों में अंधेरा छा गया।

लोगों को 30 मिनट से लेकर 3 घंटे तक अंधेरे में रहना पड़ा। परेशान रहवासियों ने मोबाइल की टॉर्च और मोमबत्तियों के सहारे रात बिताई। बिजली विभाग के कर्मचारियों ने मुस्तैदी दिखाते हुए जल्द ही समस्या का समाधान किया। वहीं कई इलाकों में अब भी समस्या हल नहीं हो पाई है।

छावनी में ज्यादा दिक्कत, देर तक होते रहे फाल्ट

छावनी क्षेत्र के पोल के इंसुलेटर बर्स्ट कर गए। रात के समय बिजली कंपनियों को जैसे ही एक इंसुलेटर बदलने का काम पूरा हुआ, वैसे ही दूसरे इंसुलेटर में तकनीकी समस्या उत्पन्न हो गई। इसके साथ ही पेड़ों की डालियां बिजली लाइनों में उलझती रहीं, जिसके कारण बिजली कर्मचारियों को खासा मशक्कत का सामना करना पड़ा।

रात तकरीबन 1 बजे यहां के फाल्ट सुधारे जा सके। इस दौरान बिजली कर्मचारियों को बारिश में भीगते हुए काम करना पड़ा। जब जाकर रहवासियों और बिजली कर्मचारियों ने राहत की सांस ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *