निगम और प्रशासन की कार्रवाई: उद्घाटन से पहले 54 कमरों का होस्टल जमींदोज !

इंदौर:नगर निगम और प्रशासन ने अपने ने आज सर्वानंद नगर में अवैध होस्टलों को ढहाने की कार्रवाई का अभियान फिर शुरू कर दिया। सुबह 7 बजे चली कार्रवाई में सर्वानंद नगर ए-चैक्सर में बने 3500 स्क्वेयर फीट पर बनाए गए 54 कमरों की विशाल होस्टल को जमींदोज कर दिया।

प्रशासन की कार्रवाई से होस्टल मालिक और उनके परिजन आक्रोशित नजर आए, जबकि मौके पर मौजूद अफसरों ने निगम आयुक्त के निर्देश पर कार्रवाई किए जाने की जानकारी दी। बताया जा रहा है कि मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल भी तैनात रहा और भारी विरोध के बावजूद प्रशासन ने अवैध होस्टल को तोड़ने की कार्रवाई को पूरा किया।

सर्वानंद नगर की गलियों में पैदल घूमते अफसरों में मचा हड़कंप

सर्वानंद नगर में चार साल पहले ही नगर निगम ने अवैध तीन होस्टलों को ढहाने की कार्रवाई शुरू की थी। उस वक्त भी निगम अफसरों ने अवैध होस्टलों को ध्वस्त कर दिया था। आज सुबह जब निगम का अमला सर्वानंद नगर में पहुंचा तो स्थिति फिर एक बार अफसरों ने देखा कि यहां बड़ी संख्या में अवैध होस्टलों का निर्माण फिर शुरू हो गया है।

नगर निगम के अधिकारियों ने सर्वानंद नगर की गलियों में पैदल घूमकर अवैध होस्टलों का जायजा लिया और मौके पर ही निर्णय लिया कि जिन होस्टलों का निर्माण पूरी तरह से अवैध है, उन्हें तत्काल प्रभाव से तोड़ा जाए। इस निर्णय के बाद अफसरों ने 54 कमरों की विशाल होस्टल को तत्काल प्रभाव से तोड़ने का आदेश दिया और फिर जेसीबी मशीन से अवैध होस्टल को गिराया गया।

मालिक ने जड़े आरोप

होस्टल मालिक सतीश ने निगम और प्रशासन के अफसरों पर आरोप लगाते हुए कहा कि उनके होस्टल का निर्माण निगम की परमिशन से हुआ है, लेकिन इसके बाद भी प्रशासन अवैध बताकर तोड़ने में लगा है। अफसरों से इस बारे में बात की तो किसी ने कोई जवाब नहीं दिया।

अफसर घूमे गली-गली, आधी सड़क पर बने मिले होस्टल

अफसरों की टीम ने सर्वानंद नगर की हर गली का निरीक्षण किया। अधिकांश गलियों में पाया गया कि लोगों ने आधी सड़क पर कब्जा कर होस्टल बना रखे हैं। निगम आयुक्त के निर्देश पर टीम ने ऐसे होस्टलों की लिस्ट बनाई और फिर ताबड़तोड़ तरीके से कार्रवाई शुरू की।

लोगों ने विरोध जताया लेकिन पुलिस बल की तैनाती की वजह से किसी की एक नहीं चली। कार्रवाई के दौरान नगर निगम ने 54 कमरों के विशाल होस्टल को सबसे पहले निशाना बनाया और फिर देखते ही देखते जेसीबी मशीन से होस्टल को ध्वस्त कर दिया।

रहवासियों ने जताई खुशी

नगर निगम की इस कार्रवाई से स्थानीय रहवासी बेहद खुश नजर आए। उनका कहना था कि उनके इलाके में होस्टल के कारण परेशानी बढ़ गई थी। लोग अवैध रूप से होस्टल बनाते थे और हर गली मोहल्ले में समस्याएं पैदा होती थीं। अब निगम की कार्रवाई से रहवासियों को राहत मिलेगी और अवैध होस्टल का निर्माण नहीं हो पाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *