इंदौर में हुई डिविजनल मैनेजर की, मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क के काम से मुक्त हुए एनएचएआई अफसर !

इंदौर। पीथमपुर में बनने वाले मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क के काम से नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अफसर अलग हो गए हैं। प्रोजेक्ट पर सिर्फ एनएचएआई की ओर से वित्तीय सहायता दी जाएगी, लेकिन अब इसका संचालन और निर्माण के लिए इंदौर में अलग से डिविजनल मैनेजर की नियुक्ति की गई है। यह मैनेजर रोड साइड एमिनिटीज (एनएचएआईपीएल) के अंतर्गत कार्य करेंगे।

इंदौर में हुई डिविजनल मैनेजर की नियुक्ति, अलग ऑफिस भी बनेगा

अब तक एनएचएआई इंदौर यूनिट के प्रोजेक्ट डायरेक्टर को लॉजिस्टिक्स पार्क के निर्माण और प्रबंधन का काम संभालना पड़ता था, जिनका उन पर काम का दबाव बढ़ता जा रहा था। इसे ध्यान में रखते हुए मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क के लिए इंदौर में पहले डिविजनल मैनेजर के रूप में रविंद्र गुप्ता की नियुक्ति हुई है। वे बीते महीने ही एनएचएआईपीएल से जुड़े हैं। अगले महीने तक इंदौर डिविजनल मैनेजर का ऑफिस भी बनकर तैयार हो जाएगा।

दिल्ली-मुंबई हाईवे

गुप्ता के अनुसार वे अपनी टीम के साथ मिलकर इस मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क के निर्माण और प्रबंधन के साथ रोड साइड एमिनिटीज की वृद्धि के कार्य को भी संभालेंगे।

रोड साइड एमिनिटीज का भी देखेंगे काम

एनएचएआईपीएल के डिविजनल मैनेजर का मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क के अलावा इंदौर से जुड़े हाईवे पर रोड साइड एमिनिटीज के निर्माण का जिम्मा भी रहेगा। ऐसे स्थानों को तलाशा जाएगा जहां पर रेस्ट एरिया और अन्य सुविधाएं विकसित की जा सकें।

अभी नहीं मिली जमीन

पीथमपुर में एमएमएलपी के निर्माण के लिए करीब 112.60 हेक्टेयर जमीन अधिग्रहित की जानी है। राजस्व विभाग से जुड़े अफसरों का कहना है कि जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया जारी है और जल्द ही प्रोजेक्ट के लिए जगह उपलब्ध कराई जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *